इमरजेंसी फंड क्या है यह फंड क्यों है जरूरी, जानें कैसे करें तैयार

इमरजेंसी फंड

पैसा कमाना कितना मुश्किल है उससे भी मुश्किल है उसे सही तरह से इस्तमाल करना। इसलिये बचत और निवेश  दोनो ही जरूरी है, और ज़रुरी है उसे इमरजेंसी के लिए बचा के रखना।

जीवन में किसी भी समय आपात स्थिति उत्पन्न हो सकती है और COVID महामारी के कारण लगाए गए लॉकडाउन ने यह बहुत स्पष्ट कर दिया है। इन आपात स्थितियों से निपटने के लिए इमरजेंसी फंड बहुत जरूरी है। तो, पहला सवाल जो दिमाग में आता है वह यह है कि इमरजेंसी फंड के लिए कहां निवेश करें? राशि कितनी होनी चाहिए? ऐसे कई सवाल होंगे जो आपके दिमाग में भी चल रहे होंगे. इस लेख में हम आपके सभी सवालों का समाधान लेकर आए हैं। लेकिन आपके लिए सबसे पहले यह समझना जरूरी है कि इमरजेंसी फंड क्या है, और यह इतना महत्वपूर्ण क्यों है।

वित्तीय विशेषज्ञों का मानना ​​है कि भविष्य की अज्ञात वित्तीय स्थितियों से खुद को बचाने के लिए प्रत्येक व्यक्ति के पास एक इमरजेंसी फंड होना चाहिए। तो इस लेख में हम बताएंगे कि इमरजेंसी फंड के लिए paise kaha invest kare?

द मनी क्लब में शामिल हों और निवेश करना शुरू करें।

इमरजेंसी फंड क्या है?- Emergency Fund Kya Hai?

जैसा कि नाम से स्पष्ट है, इमरजेंसी फंड उस धन को संदर्भित करती है जिसे आप आपात स्थिति के लिए अलग रखते हैं। सरल शब्दों में, एक इमरजेंसी फंड एक आवश्यक fund है जिसे आपको किसी आपात स्थिति से निपटने के लिए अलग रखना चाहिए। यह फंड अप्रत्याशित और अनियोजित स्थितियों में उपयोग में आता है। इसका उपयोग कभी भी नियमित खर्चों को पूरा करने के लिए नहीं किया जाना चाहिए। एक स्मार्ट निवेशक वह होता है जो ऐसे जरूरी समय के लिए पैसा लगाता है।

सुविधाएं जो एक इमरजेंसी फंड में होनी चाहिए:

Emergency fund आपात स्थिति के खिलाफ एक वित्तीय सुरक्षा है। नीचे कुछ महत्वपूर्ण चीजें दी गई हैं जो एक इमरजेंसी फंड में होनी चाहिए-

1.लिक्विडिटी

यह स्पष्ट है कि किसी आपात स्थिति के दौरान इमरजेंसी फंड का उपयोग किया जा सकता है और यह आसानी से उपलब्ध होनी चाहिए। इमरजेंसी फंड हमेशा ऐसा होना चाहिए जहां आप आसानी से पैसे निकाल सकें जैसे सेविंग अकाउंट, बैंक एफडी या आरडी।

आज ही अपनी सभी जरूरतों के लिए बचत करना शुरू करें

2. सुरक्षा

सुरक्षा से हमारा मतलब है कि कम जोखिम वाले विकल्पों में निवेश करके एक आपातकालीन निधि बनाई जानी चाहिए। हाई रिस्क मार्केट लिंक्ड इक्विटी में निवेश न करें। यह ध्यान रखना जरूरी है कि आपने जहां भी पैसा निवेश किया है या बचाया है, वह आपको अच्छा रिटर्न देता है और इसका मूल्य कम नहीं होना चाहिए।

3. निवेश से अलग

इमरजेंसी फंड को हमेशा एक वित्तीय कवच के रूप में देखा जाना चाहिए न कि संपत्ति के रूप में। इसलिए अपने निवेश को इमरजेंसी फंड से अलग रखें।

इमरजेंसी फंड के लिए कितनी बचत करनी चाहिए?

निवेशक अक्सर इस confusion में रहते है कि Emergency Fund के लिए सही राशि क्या है जिसे उन्हें अलग रखना चाहिए। एक Emergency Fund और इसकी राशि का आकार आपके financial condition और lifestyle जैसे कई factors पर निर्भर करता है। आपको अपने monthly income, family size, medical history, current loans आदि के आधार पर इमरजेंसी फंड में निवेश करने की योजना बनानी चाहिए। Experts सलाह देते हैं कि कम से कम 3-6 महीने के खर्च को इमरजेंसी फंड के रूप में अलग रखा जाना चाहिए। अगर आपके पास अभी तक ऐसा कोई फंड नहीं है तो चिंता न करें, लेकिन आपको अपनी salary se paisa bacha kar छोटी राशि (at least 2%) से इमरजेंसी फंड की शुरुआत करनी चाहिए।

एआई-संचालित ऑनलाइन चिट फंड प्लेटफॉर्म से जुड़े! 

Emergency Fund के लिए कहां निवेश करें? | Where to invest for Emergency Fund?

एक बार जब आप इमरजेंसी फंड में अलग रखी जाने वाली राशि का निर्धारण कर लेते हैं, तो इसे रखने के लिए सबसे अच्छा बचत साधन खोजना महत्वपूर्ण है।

  • इमरजेंसी फंड बनाते समय, आपको सही निवेश विकल्प चुनने चाहिए जो:
  • आसानी से उपलब्ध हो
  • अपनी बचत पर अधिक रिटर्न अर्जित करें
  • बाजार के उतार-चढ़ाव से सुरक्षित हो
  • स्थिर और विश्वसनीय हो

इमरजेंसी फंड के लिए कहां निवेश करें?

कुछ बेहतरीन निवेश विकल्प इस प्रकार हैं:
  1. सेविंग अकाउंट: आप अपना इमरजेंसी फंड रखने के लिए आसानी से बैंक में सेविंग अकाउंट खोल सकते हैं। हालांकि बचत खाता आसान तरलता की गारंटी देता है, लेकिन निवेश किए गए फंड का रिटर्न कम होता है।
  2. चिट फंड अपने बैकअप फंड को चिट फंड में रखने से बैंक बचत खाते की तुलना में त्वरित तरलता के साथ-साथ अच्छा रिटर्न भी सुनिश्चित होता है। सुरक्षित निवेश के लिए, द मनी क्लब जैसे डिजिटल चिट फंड ऐप का उपयोग करके निवेश करें।
  3. सावधि जमा (fixed deposit) और आवर्ती जमा (recurring deposit): ये निवेश विकल्प बचत बैंक खाते की तुलना में त्वरित तरलता और उच्च ब्याज दर प्रदान करते हैं। लेकिन, अगर आप maturity से पहले पैसे निकालते हैं तो आपको penalty देनी होगी।

मनी क्लब मोबाइल ऐप कैसे काम करता है?

इमरजेंसी फंड जरूरी क्यों है? | Why is an Emergency Fund important?

Emergency कभी भी हो सकती हैं, चाहे वह loss of job हो या medical emergency. अगर हम किसी फंड में निवेश करते हैं तो यह ऐसी अप्रत्याशित परिस्थितियों में हमारी मदद कर सकता है। एक इमरजेंसी फंड निम्नलिखित तरीकों से उपयोगी है-
1.आपातकालीन स्थितियों में मदद करता है
Emergency Fund का पहला और सबसे महत्वपूर्ण लाभ यह है कि यह financial emergency के दौरान बहुत मदद  कर सकता है। मान लीजिए किसी कारण से आप अपनी नौकरी खो देते हैं। ऐसे में आपको दिन-प्रतिदिन की जरूरतों को पूरा करने के लिए अन्य खर्चों में कटौती करनी पड़ सकती है या पैसे उधार लेने पड़ सकते हैं। अगर आपके पास इमरजेंसी फंड है तो आपको अपनी लाइफस्टाइल से समझौता नहीं करना पड़ेगा, कर्ज नहीं लेना पड़ेगा या प्रॉपर्टी नहीं बेचनी पड़ेगी।
2. खराब वित्तीय निर्णयों को रोकता है
मान लीजिए कि कोई आपात स्थिति उत्पन्न हो जाती है, और आपके पास कोई इमरजेंसी फंड नहीं है, तो आपको कुछ बुरे वित्तीय निर्णय लेने के लिए मजबूर होना पड़ेगा। आप पैसेउधारले सकते हैं, उच्च ब्याज दर पर ऋण ले सकते हैं, अपने क्रेडिट कार्ड का अत्यधिक उपयोग कर सकते हैं, अपनी संपत्ति बेच सकते हैं। इन फैसलों के लंबे समय तक चलने वाले प्रभाव हो सकते हैं, जिससे आपको ऋण चुकाने के लिए संघर्ष करना पड़ सकता है। इससे आपकी बचत कम होगी और इससे आपकी आर्थिक स्थिति कमजोर होगी।

हर महीने पैसे बचाएं इमरजेंसी फंड बनाये! अपना भविष्य सुरक्षित करें!

3. आप फालतू खर्च करने से बचते है
जब आप किसी इमरजेंसी फंड के लिए पैसा अलग रखते हैं तो आप बचत करने की आदत विकसित करते हैं। इस तरह आप अनावश्यक खर्च से बचते हैं और पैसे की बचत करते हैं। साथ ही आप अपने खर्च, बचत और निवेश को ध्यान से अलग करके धन प्रबंधन सीखते हैं। एक और लाभ यह है कि आप अपने निवेश की बेहतर तरीके से योजना बनाने में सक्षम होंगे। आपको यह भी पता चल जाएगा कि आपके आवश्यक खर्च क्या हैं और अनावश्यक खर्चों को कैसे त्यागें। इसे पढ़ें सैलरी से पैसे कैसे बचाएं

4. तनाव कम करता है
यदि आपके पास इमरजेंसी फंड है तो आप किसी भी अप्रत्याशित स्थिति से निपटने के लिए तैयार हैं। यह वित्तीय संकट के दौरान आपके तनाव के स्तर को भी कम रखता है। जब आप आर्थिक संकट में होते हैं तो यह आपके मानसिक स्वास्थ्य को प्रभावित करता है। पैसे से संबंधित समस्याएं तनाव और चिंता का कारण बनती हैं जो आपके संकटों को बढ़ाती हैं और आपको ऋण या क्रेडिट कार्ड जैसे त्वरित नकदी तक पहुंचने के लिए गलत निर्णय लेने के लिए प्रेरित करती हैं।

निष्कर्ष

एक इमरजेंसी फंड आपात स्थिति में बहुत अंतर ला सकती है और आपको वित्तीय कमी के खिलाफ तैयार करती है। ध्यान रखें कि भले ही एक इमरजेंसी फंड लिक्विड होना चाहिए, लेकिन इसे अपने नियमित खर्चों के लिए उपयोग न करें।